Mahamrityunjay Mantra Ke Fayde - लगातार नकारात्मक बातों से परेशान हैं तो जानिए महामृत्युंजय मंत्र के फायदे

Mahamrityunjay Mantra Ke Fayde hindi me - इस कोरोना कल के दौरान भले ही आप घर में बंद हों, फोन, व्हाट्सएप, फेसबुक या अन्य सोशल मीडिया पर आपको हर दिन कुछ न कुछ बुरा सुनने या देखने को मिलता है।

यह दिमाग को सुन्न कर देता है और चिंता, तनाव को बढ़ाता है। अचानक घर का माहौल भी नकारात्मक होने लगता है।

Mahamrityunjay Mantra Ke Fayde

सभी का मन अज्ञात भय से भरा जा रहा है। ऐसी स्थिति में भगवान, भगवान के नाम की ऊर्जा, हमें ऊर्जा प्रदान करती है, हमें सहारा देती है। इसी सिलसिले में आज हम आपको महामृत्युंजय मंत्र जप के फायदे बताने जा रहे है।

यमराज को भी हार माननी पड़ी

शिव पुराण में कहा गया है कि जो व्यक्ति लगातार महामृत्युंजय मंत्र का जाप करता है उसे अपनी आत्मा के साथ यमलोक जाने के लिए एक बार फिर सोचना पड़ता है।

ब्लॉक होने के बाद भी किसी ने आपकी फेसबुक प्रोफाइल को चुपके से देखा है, चेक करें

वह जल्द ही भक्तों की पुकार सुनता है और उनके दुखों को दूर करता है। भगवान शिव भक्तों पर तुरंत प्रसन्न होते हैं।

जटाधारी शिवशंकर को संतुष्ट करने के लिए किसी भी व्यक्ति को कठिनाइयों का सामना नहीं करना पड़ता है। शास्त्रों में कहा गया है कि महादेव के महामृत्युंजय मंत्र का जाप करने से सभी संकट दूर हो जाते हैं और यमराज को भी हार माननी पड़ती है।

अकाल मृत्यु को रोकने के लिए

शिवजी के महामृत्युंजय मंत्र को महामंत्र कहा जाता है। इसमें, भगवान शिव के महामृत्युंजय को जापान में दीर्घायु के लिए प्रार्थना की जाती है। 

इस मंत्र का प्रयोग कई प्रकार से किया जाता है। असाध्य रोगों से छुटकारा पाने और अकाल मृत्यु को रोकने के लिए महामृत्युंजय जप करने का शास्त्र-पुराण में विशेष उल्लेख है।

5.30 लाख रुपये की शुरुआती कीमत पर 7 सीटर कार और पीछे की सीटों में सबसे अधिक जगह

भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए महामृत्युंजय मंत्र को एक महान मंत्र माना जाता है।

यदि आप अमावस्या के दौरान यह विशेष उपाय करते हैं, तो आपको लाभ होगा

प्रभावी और सर्वोच्च मोक्ष का मंत्र

यह भगवान शिव को संतुष्ट करने का एक बहुत ही सरल और सटीक मंत्र माना जाता है। यह शिव मंत्र प्रभावी और मुक्तिदायक है।

बच्चों को चांदी के बर्तन में खाना खिलाने के फायदे, स्वास्थ्य और लाभ

विपरीत काल में यदि किसी भक्त को कोई कठिनाई या समस्या आती है तो इस मंत्र का जाप भक्ति भाव से करना चाहिए। यह सबसे बड़ी समस्या, समस्या और परेशानी को खत्म करता है।

महामृत्युंजय मंत्र के जाप की विधि Method

सोमवार या प्रदोष तिथि के दिन महामृत्युंजय मंत्र का जाप करना उचित माना जाता है। ये दोनों दिन भगवान शिव के माने जाते हैं।

इन चार राशियों के लोग बहुत जिद्दी होते हैं

इस दिन महामृत्युंजय मंत्र का जाप करने से विशेष लाभ मिलता है। इसके लिए सुबह जल्दी उठकर स्नान करें। अच्छे विचारों और आत्म शुद्धि के साथ, पूजा स्थल पर भगवान शिव के सामने आसन लगाना चाहिए। 

घी का दीपक जलाएं और फिर हाथ में चंदन की डोरी लेकर महामृत्युंजय मंत्र का कम से कम 108 बार जाप करें। इसके बाद भगवान शिव का स्मरण करें और दीर्घायु की प्रार्थना करें।

Post a Comment

0 Comments