Stop Hair Fall in Hindi - क्या आप बालों के झड़ने की समस्या से पीड़ित हैं? बालों के झड़ने के 7 संभावित कारण

Stop Hair Fall in Hindi - क्या आप भी बालों के झड़ने की समस्या से पीड़ित हैं? तो, सबसे पहले, बालों के झड़ने का सही कारण पता करें। इसके बारे में कोई गलती मत करो। इस समस्या के कारण को समझने से इसका इलाज करना आसान हो जाता है।

Stop Hair Fall

महिलाओं के बाल झड़ने के सात मुख्य कारण हैं। हम इसके बारे में अधिक जानेंगे। यदि आप इनमें से किसी भी समस्या से पीड़ित हैं, तो आपको तुरंत उपचार लेना चाहिए। अन्यथा भविष्य में समस्याएं और गंभीर हो सकती हैं।

पहला कारण आपका हेयरस्टाइल है

यदि आप हमेशा हाई बन या पोनीटेल जैसी हेयर स्टाइल कर रही हैं, तो यह बालों के झड़ने का कारण बनता है; इस पर ध्यान दें। बालों को स्वस्थ रखने के लिए दो से तीन दिनों के अंतराल पर बालों को ढीला रखें या एक साधारण सी चोटी बांधें।

अत्यधिक हेअर ट्रीटमेंट

अगर आप बहुत सारे कलरिंग, हेयर स्ट्रेटनिंग, स्टाइलिंग और हेयर ड्रायर आदि का इस्तेमाल करते हैं, तो इससे बालों का झड़ना, बालों का कमजोर होना, बालों का पतला होना जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं। 

यही कारण है कि बार-बार हेयर ट्रीटमेंट न करे। बालों को शैंपू से धोने के बाद हेयर ड्रायर का इस्तेमाल न करें। बालों को उसके प्राकृतिक रूप में सुखाना फायदेमंद होता है। हेयर ड्रायर बालों के रोम को प्रतिकूल रूप से प्रभावित करता है। इससे बाल शुष्क और कमजोर हो जाते हैं। नतीजा बालों का झड़ना बढ़ जाता है।

गर्भनिरोधक गोलियाँ

ज्यादातर महिलाएं इस बात से अनजान होती हैं कि गर्भनिरोधक गोलियां लेने से बालों को बहुत नुकसान हो सकता है। 

इन गोलियों के कारण शरीर में हार्मोनल असंतुलन होता है। जिसका बाल विकास और स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। ऐसे मामलों में यह बहुत महत्वपूर्ण है कि आप डॉक्टर से सलाह लें और शरीर की जरूरतों के अनुसार सही गोली लें।

ऑनलाइन धोखाधड़ी हुई तो डरो मत, तुरंत इस नंबर पर रिपोर्ट करें और अपना पैसा वापस पाएं

गर्भावस्था के कारण भी बाल झड़ सकते हैं

जिस तरह जन्म नियंत्रण की गोलियाँ बालों के झड़ने को बढ़ाती हैं, उसी तरह कुछ महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान बालों के झड़ने का अनुभव होता है। 

इस संबंध में हर महिला का अनुभव अलग है। कुछ लोग अत्यधिक बालों के झड़ने का अनुभव करते हैं, जबकि कुछ महिलाये कम बालों के झड़ने का अनुभव करते हैं। ये सभी चीजें शरीर में हार्मोनल परिवर्तन के कारण होती हैं। लेकिन चिंता मत करो। अपने चिकित्सक से सलाह के अनुसार बालों की देखभाल की दिनचर्या का पालन करें।

शरीर में पोषक तत्वों की कमी

बालों का स्वास्थ्य तब भी प्रभावित होता है जब शरीर को उचित मात्रा में पोषक तत्वों की आपूर्ति नहीं होती है। इससे भारी मात्रा में बाल झड़ सकते हैं। 

इस क्षति को रोकने के लिए आपको अपने आहार में पोषक तत्वों को शामिल करना चाहिए। 30 वर्ष की आयु के बाद महिलाओं में बालों का झड़ना अधिक होता है। प्रोटीन और कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थों का अधिकतम सेवन। इसके अलावा, शरीर में विटामिन डी की कमी न होने दें।

चैत्र नवरात्र के धार्मिक और वैज्ञानिक कारण

अत्यधिक तनाव

परिवार और करियर की जिम्मेदारियां निभाने वाली महिलाओं को कई अलग-अलग चीजों से निपटना पड़ता है। कुछ लोग अपने दुख को बिल्कुल भी व्यक्त नहीं करते हैं। यह तनाव, चिंता, अवसाद को बढ़ाता है। जो मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित करता है और बालों का झड़ना भी बढ़ाता है। 

अगर आप भी मानसिक स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याओं से पीड़ित हैं तो आपको किसी विशेषज्ञ की मदद लेने की जरूरत है। यह तनाव को कम करने और अन्य बीमारियों को रोकने में भी मदद करेगा।

आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि पैर का अंगूठा आपके बारे में क्या दर्शाता है

बालों की उचित देखभाल

कई महिलाओं के पास इतना समय नहीं होता है कि वे अपने बालों की देखभाल कर सकें। अगर इसका सही तरह से ख्याल न रखा जाए तो बाल प्रभावित हो सकते हैं।

बालों की देखभाल हर हफ्ते इस तरह की जानी चाहिए 

१) दो बार शैम्पू करें

२) तेल लगाकर दो बार बालों की मालिश करें

३) एक बार हेयर मास्क का उपयोग करना

Post a Comment

0 Comments