Heat Stroke - क्या आप वास्तव में अपनी जेब में 'यह' चीज रखकर गर्मी से बच सकते हैं? जानिए सच्चाई!

Heat Stroke - आपने कई बार सुना होगा कि यदि तापमान बढ़ जाता है, तो गर्मी की मार से बचने के लिए प्याज को अपनी जेब में रखें और घर से बाहर निकलें। लेकिन क्या यह समाधान वास्तव में उपयोगी है?

Heat Stroke

गर्मियों की शुरुआत के साथ, सूरज की रोशनी या बढ़ी हुई गर्मी के संपर्क में आने का अधिक खतरा होता है। गर्म हवा के साथ बाहर चिलचिलाती गर्मी एक व्यक्ति को बीमार कर सकती है। इसीलिए जैसे-जैसे गर्मियां आती हैं, डॉक्टर स्वास्थ्य संबंधी विभिन्न सलाह देने लगते हैं। शरीर में पानी की कमी डिहाइड्रेशन का कारण बनता है और अक्सर इस स्थिति वाले व्यक्ति के पास अस्पताल में भर्ती होने के अलावा कोई विकल्प नहीं होता है। गर्मी त्वचा, बाल, स्वास्थ्य आदि को प्रभावित करती है।

इस अवधि के दौरान घर से बाहर निकलना कई लोगों  के लिए चिंता का कारण बनता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि धूप में बाहर जाने के बाद चक्कर आना, उलटी होना और कमजोरी महसूस होती है। यही कारण है कि कई लोग गर्मी से खुद को बचाने के लिए बाहर जाने पर अपनी जेब में प्याज रखने की सलाह देते हैं, लेकिन क्या बाहर की गर्मी के दुष्प्रभाव से बचना वाकई मुमकिन है?

सच क्या है?

अतीत में, कोई वाहन या परिवहन के अन्य साधन नहीं थे, इसलिए लोगों को लंबी दूरी की पैदल यात्रा करनी पड़ती थी। इस वजह से, लोग अपनी जेब में प्याज रखकर गर्मियों में बाहर जाते हैं, क्योंकि उनमें वालटाइल तेल होता है, जो शरीर के तापमान को सामान्य रखने में मदद कर सकता है। लेकिन सिर्फ अपनी जेब में प्याज लेकर बाहर निकलने से गर्मी से बचना संभव नहीं है।

आहार में शामिल करें

विशेषज्ञों के अनुसार, गर्मियों में प्याज को आहार में शामिल करना चाहिए। प्याज शरीर को बाहरी तापमान के प्रभाव से बचाने में मदद करता है। इसमें पाया जाने वाला वालटाइल तेल शरीर को ठंडक प्रदान करने में फायदेमंद है। तो इसमें मौजूद पोटैशियम और सोडियम इलेक्ट्रोलाइट्स की कमी को पूरा कर सकते हैं। 

कच्चा प्याज भोजन को पचाने में भी मदद करता है, जिससे पेट से संबंधित समस्याएं दूर होती हैं। विशेषज्ञ हर दिन मध्यम आकार के कच्चे प्याज खाने की सलाह देते हैं।

पढ़ें: - 9 इन ’9 खाद्य पदार्थों को खाली पेट न खाएं, भले ही आपको बहुत भूख लगे, वे बहुत नुकसान करेंगे!

उचित आहार आपको गर्मी से बचा सकता है

यूनानी चिकित्सकों का दावा है कि यदि आहार सही तरीके से लिया जाए तो गर्मी के स्वास्थ्य लाभों से काफी हद तक बचा जा सकता है। 

राष्ट्रीय स्वास्थ्य पोर्टल पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार, हर व्यक्ति को गर्मी के दिनों में हर दिन ताजे फल, अधिक से अधिक सब्जियां और जूस का सेवन करना चाहिए। इसमें उच्च जल स्तर होता है, जो शरीर को निर्जलीकरण से बचाकर हाइड्रेटेड रहने में मदद करता है। हीटस्ट्रोक का मुख्य कारण निर्जलीकरण है।

गर्मी में रोजाना इन खाद्य पदार्थों का सेवन करें

हर दिन संतरे, अनानास, तरबूज, अंगूर जैसे फल खाएं

प्याज, पुदीना और ककड़ी से बने सलाद या सलाद भी शरीर को हाइड्रेट रखने में मदद करते हैं

प्रतिदिन एक से दो गिलास ताजे फलों का रस अवश्य पिएं

दही, छाछ या लस्सी का सेवन करें। इससे शरीर ठंडा रहेगा और पाचन क्रिया भी अच्छी रहेगी

यह पता चला है कि रक्त में शर्करा का स्तर किसी व्यक्ति में शुरुआती हीटस्ट्रोक का कारण बन सकता है। इससे बचने के लिए मूंगफली, बीन्स, दालें और खाने में ऑलिव ऑइल का सेवन करें। ये पदार्थ रक्त शर्करा के स्तर को संतुलित करने में मदद करते हैं

पुदीने की चाय और रास्पबेरी से बनी चाय भी गर्मियों में शरीर के लिए अच्छी मानी जाती है।

हीट स्ट्रोक में हरी दाल को बेहद फायदेमंद माना जाता है। हरी दाल को एक से दो कप पानी में उबालें। जब पानी आधा सूख जाए तो आंच बंद कर दें। गर्मी के दिनों में रोजाना इस दाल के पानी को पीने से शरीर में डिहाइड्रेशन की समस्या दूर होती है।

पढ़ें: - क्या आप मोटापे से पीड़ित हैं? तो दूध की चाय के बजाय वसा जलाने वाले पदार्थ की चाय पीएं!

इस बात का भी ख्याल रखें

गर्मी से बचना ज़रूरी है ताकि आपको कोई स्वास्थ्य समस्या न हो। यदि संभव हो तो दोपहर में बाहर जाने से बचें। यदि आप बाहर जाना चाहते हैं, तो अपने कान, नाक, नाक और पूरे चेहरे को स्कार्फ से ढक लें। 

एक छाता, टोपी, काले चश्मे, पानी की बोतल के साथ बाहर जाएं। शराब, सिगरेट और कैफीन युक्त खाद्य पदार्थों से चार हाथ दूर रहें। सूती कपड़े पहनें। 

चीनी, नमक और नींबू का रस पीना जारी रखें। जहां नमक शरीर के तापमान को नियंत्रित करता है, वहीं चीनी शरीर की ऊर्जा को बढ़ाती है। आप इसे धनिया और पुदीने के साथ भी पी सकते हैं। पानी में धनिया और पुदीना भिगोएँ। फिर चीनी और धनिया और पुदीना को मिक्सी में पीस लें। ठंडा पानी डालकर पिएं। यह आपको सन स्ट्रोक की समस्या से बचा सकता है।

Post a Comment

0 Comments